Two Best Spiritual Stories in Hindi | Spiritual Motivational Stories

इस पोस्ट में हम आपके लिए दो बेहतरीन spiritual stories in hindi या यूँ कहें आध्यात्मिक प्रेरणादायक कहानियां लेकर आये हैं। इन short spiritual stories में आपको भगवान पर विश्वास के साथ साथ प्रेरणादायक सीख भी मिलेगी। भगवान पर हम सभी को विश्वास होता है लेकिन कभी कभी वो विश्वास कम हो जाता है इन religious story in hindi से आपका विश्वास और भगवान पर आस्था बनी रहेगी। इन अध्यातमिक हिंदी कहानियों को जरूर पढ़ें और इनसे मिलने वाली प्रेरणा को हमेशा याद रखें।

1- गिलहरी का सामर्थ्य – short spiritual motivational story

रामसेतु पुल के निर्माण के वक्त जब सभी वानर सेना मिलकर राम नाम के पथ्थरों को समुन्द्र में डाल रही थी तो उस वक्त एक छोटी सी गिलहरी भी उन वानरों के साथ मिलकर समुन्द्र में छोटे छोटे पथ्थर दाल रही थी। एक बन्दर की नज़र उस पर पड़ी और उसने उस गिलहरी से बोला ही तुम्हारे इस छोटे से पथ्थर से पुल जल्दी थोड़ा ना बन जायेगी। ऐसा कहकर उसने उस गिलहरी को पकड़ा और दूर फेंक दिया। इस बात से गिलहरी रोने लगी और श्री राम के पास जाकर उसने सारी बात बताई।

श्री राम हमेशा विनर्म रहते थे तो उन्होंने उस बन्दर को अपने पास बुलाया और उससे कहा की…तुम बड़े हो इसलिए तुम ज्यादा बड़े पथ्थर उठा सकते इसका मतलब ये नहीं है की सिर्फ तुम ही काम करने योग्य है। गिलहरी में जितनी शक्ति है वो उतनी ही शक्ति से काम कर रही है और उसकी योग्यता भी उतनी ही है जितनी तुम्हारी। और फिर श्री राम गिलहरी के ऊपर अपनी उँगलियाँ फिराते हैं। अपने गिलहरी के ऊपर तीन निशान देखे होंगे। कहा जाता है वो श्री राम की उँगलियों के निशान है।

सीख जो हमे इस adhyatmik story in hindi से मिलती है-

ये छोटी से कहानी सिखाती है की योग्यता और सामर्थ्य हर किसी में बराबर होता है लेकिन फिर भी हम चीज़ें करना नहीं चाहते। और कामयाब होने के सपने देखते रहते हैं। कामयाब होने के लिए ये मायने नहीं रखता की आपने कितना किया, मायने ये रखता है की आप कितना कर सकते थे। हमे कई बार ये लगता है की हमने बहुत कुछ किया लेकिन फिर भी हम नाकामयाब ही रहे। एक सच ये भी होता है की हमने अपनी capabilities के लायक बहुत काम किया होता है और हम उससे ज्यादा करने की इच्छा ही नहीं रखते।

Story #2 – भगवान सब की मदद करता है – bhagwan ki kahani

एक बार एक सेठ जी थी। जिनके पास धन दौलत की कोई कमी नहीं थी लेकिन समस्या ये थी की उन्हें रात को नींद नहीं आती थी। दिन भर वो काम में व्यस्त रहते थे लेकिन रात होते ही उन्हें बेचैनी सी होने लगती थी। जिसकी वजह से वो सो नहीं पाते थे। एक रात सेठ जी बहुत परेशान हो गए।

उन्होने कुछ पैसे निकाले और अपनी कार लेकर पास ही के एक मंदिर में चले गए। कुछ देर भगवान के पास बैठे तो उन्हें थोड़ा सुकून मिला। अब जैसे ही वहां से जाने लगे तभी एक गरीब व्यक्ति भगवान के पास आकर प्रार्थना करने लगा। भगवान से प्रार्थना करते करते उसकी आँखों से आंसू निकलने लगे।

god motivational story in hindi, true god stories in hindi, god stories, motivational stories of god in hindi
god motivational story

सेठ जी ये सब देख रहे थे तो उन्होंने उस व्यक्ति से पूछा- “क्यों भाई इतनी रात को मंदिर में आकर तुम रो क्यों रहे हो। ऐसा भी क्या हो गया तुम्हारे साथ ?”
वो व्यक्ति बोला- मेरी बच्ची बहुत बीमार है और इस वक्त वो hospital में है। मेरे पास उसके इलाज के लिए पैसे नहीं है। अगर कल सुबह तक उसका इलाज नहीं हुवा तो वो बच नहीं पाएगी। अब भगवान के सिवा मेरे पास कोई और उम्मीद नहीं है।

उसकी बातें सुनकर सेठ जी का मन दुखी हो गया। वो सोचने लगे की एक में हूँ जो दिन भर पैसे कमा कर भी सुकून की नींद नहीं ले पाता और भगवान के पास आता हूँ। और एक ये है जो अपनी बेटी की जिंदगी मांगने के लिए अपना सब कुछ छोड़कर भगवान के पास आया है।

सेठ जी ने तुरंत अपनी जेब में हाथ डाला और जितने भी पैसे उनके पास थे उन्होने उस व्यक्ति को दे दिए। और उस व्यक्ति के चेहरे में रौनक आ गयी। सेठ जी ने अपना कार्ड निकाल और कहा की अगर कुछ और भी जरूरत हो मुझे जरूर बताना। लेकिन उस व्यक्ति ने कार्ड वापिस कर दिया और सेठ जी को बोला की मुझे इस पते की जरूरत नहीं क्यूंकि मेरे पास उसका पता है।

सेठ जी आश्चर्य में पड़ गए और बोले – तुम्हारे पास किसका पता हैं भाई..?
गरीब व्यक्ति बोला- उसी का जिसने, इतनी रात को आपको यहाँ मेरी मदद के लिए भेजा।

सेठ जी मन ही मन ही मुस्कुराने लगे। उस गरीब आदमी की मदद करके सेठ जी का मन बहुत हल्का हो गया और उनकी बेचैनी भी कम हो गयी। सेठ जी वहां से चले गए और चैन की नींद सो गए।

सीख जो हमे इस spiritual story in hindi से मिलती है-

ये कहानी हमे सीखती है की परेशानियों और दुःख से घिरे व्यक्ति की मदद भगवान हमेशा किसी ना किसी रूप में जरूर करते हैं। लेकिन उसके लिए हमे भगवान पर विश्वास होना भी जरूरी है। बिना विश्वास के लिए पूजा पाठ, भक्ति ये सब चीज़ें किसी काम की नहीं है। भगवान पर आस्था होना, उस पर विश्वास होना बहुत जरूरी है।

एक तरफ तो हम लोग ये कहते हैं की भगवान होते ही नहीं हैं और जब हम पर कोई मुसीबत आती है तो हम सीधा भगवान की तरफ ही दौड़ लगाते हैं। ऐसे लोगों को भगवान पर विश्वास नहीं होता और भगवान ऐसे लोगों की मदद भी नहीं करते। इसलिए अगर आपको विश्वास है तो सब कुछ है, अगर नहीं है तो फिर कुछ भी नहीं है।

आई होप आपके ये दो spiritual stories in hindi पसंद आयी हों। इन आध्यात्मिक स्टोरीज को लेकर अगर आपका कोई भी विचार हो तो हमे comment section में जरूर बताएं। ऐसी और भी प्रेरणादायक कहानियां पड़ने के लिए इस ब्लॉग से जुड़े रहें। इस कहानी शेयर करना ना भूलें।

Leave a Comment