अपनी समस्याओं से बाहर कैसे निकलें – short story about problems in life

अपनी समस्याओं से बाहर कैसे निकलें – short story about problems in life

समस्या, दुःख या परेशानी ना चाहकर भी हमारे जीवन में आते रहती हैं। और कई बार तो हमारी समस्याएं इतनी बड़ी होती हैं की उस वक्त हमे ये समझ नहीं आता की उनसे खुद को दूर कैसे किया जाएँ। वैसे तो किसी समस्या से बाहर निकलने का सबसे अच्छा तरीका है उस समस्या का समाधान।

किसी भी समस्या से अगर आपको हमेशा के लिए छुटकारा पाना है तो उसका समाधान करना ही सबसे अच्छा है। लेकिन मुसीबत या समस्या के समय सबसे मुश्किल काम की ये होता है की उस समस्या का समाधान आखिर ढूंढा कैसे जाए।

आज की short motivation story on problems आपको यही बात सिखाएगी की हम अपनी समस्याओं से खुद को कैसे दूर कर सकते हैं या फिर हम अपनी समस्या का समाधान कैसे कर सकते हैं। इस motivational kahani के जरिये आपको इस बात को समझने में पूरी मदद मिलेगी की हम समस्या का समाधान कैसे करें।

किसी ने क्या खूब कहा है, “तकदीर के लिखे पर कभी शिकवा ना किया कर ए बंदे, तू इतना अकलमंद भी नही, जो खुदा के इरादे समझ सके।”

–motivational shayari

समस्या (problem) – a short hindi story on problems

short story about problems,motivational story on problems,samsya a short story,short story on problems in life,samasya ka samadhan story
motivational story about problems

ये कहानी है अनानसी की। अनानसी, अफ्रीका का एक विद्वान् था और अपने गाँव में वो सबसे ज्यादा बुद्धिमान व्यक्ति था। उस गाँव के सभी लोग अपनी परेशानियों का हल (Solution) मांगने उसी के पास आया करते थे। बुद्धिमान होने के साथ साथ अनानसी बहुत घमंडी भी था। उसे अपनी बुद्धिमानी पर घमंड तो था लेकिन उसे इस बात का दुःख भी था की उसका बेटा बहुत बेवकूफ है।

एक दिन अनानसी किसी बात को लेकर गाँव वालों से नाराज हो गया। और उसने फैंसला किया की अब वो गाँव वाले की मदद नहीं करेगा और वो अपना सारा ज्ञान हमेशा के लिए कहीं छुपा देगा ताकि उस गाँव में कोई और ज्ञानी ना बन सके। उसने अपना सारा ज्ञान बटोरना शुरू कर दिया।

जब उसे लगा की उसने सारा ज्ञान बटोर लिया है तो उसने उस ज्ञान को मिट्टी के एक घड़े में अच्छे से बंद कर दिया। अब वो ज्ञान से भरे उस मटके को ऐसी जगह में छुपाना चाहता था, जहाँ से वो ज्ञान कभी किसी को ना मिल सके। 

Also Read:- कहाँ मिलेंगी खुशियां, The Gold Coins – Prernadayak Kahani, Secret of Success (Buddha Motivation),  धर्मपाल गुलाटी की सफलता की कहानी

अनानसी वो मटका लेकर जंगल की तरफ चला गया। लेकिन उसके बेवकूफ बेटे ने उसे मटका लेकर जाते हुवे देख लिया। उसने अपने पिता का पीछा किया। जंगल में बहुत दूर पहुंचकर अनानसी एक ऊँचे पेड़ के पास रुक गया।

उसने मटका अपनी छाँति (Chest) पर लटकाया और उस बड़े से पेड़ पर चढ़ने की कोशिश करने लगा, पर सामने मटका टंगा होने के कारण वो पेड़ को पकड़ ही नहीं पा रहा था। उसने कई बार कोशिश की, पर हर बार असफलता ही हाथ लगी।

कुछ देर तक बेटा पिता को देखते रहा। फिर वो चिल्लाकर बोला, “पिताजी, आप मटके को अपनी पीठ पर क्यों नहीं लटका लेते। इससे आपको पेड़ चढ़ने में आसानी होगी।”

अनानसी मुड़ा और बोला, “मुझे तो लगा की सारा ज्ञान मेरे पास है। मेरी बुद्धि तो यह समझ नहीं पायी जो तुमने दूर से ही जान लिया।”

बेवकूफ बेटा बोला, “पिताजी, शायद समस्या को दूर से देखना आसान होता है।”

अनानसी को लगा की उसका बेटा कैसी बेतुकी बात कर रहा है और उसे गुस्सा आ गया और गुस्से में उसने मटका जमीन पर पटक दिया और मटके में भरा सारा ज्ञान हर जगह फैल गया। 

सीख जो हमे इस prernadayak hindi story से मिलती है:-

दोस्तों ये बात सच भी है की समस्या को दूर से देखना आसान होता है। समस्याओं के बहुत पास होने पर हम उनमे ही उलझकर रह जाते हैं। अगर आप की लाइफ में भी कोई प्रॉब्लम है तो, खुद को उस problem से अलग रखकर, Solution के बारे में सोचिये।

क्यूंकि हम जितना problems के बारे में सोचते हैं, हम उनमे उतना ही फंसते चले जाते हैं, इसलिए एक बार अपनी समस्या को दूर से जरूर देखिये। आप की life चाहे जितनी भी बड़ी प्रॉब्लम क्यों ना आ जाये अगर आप उस प्रॉब्लम से खुद को अलग करके सोचेंगे तो आपको कोई ना कोई समाधान जरूर मिलेगा।

बस आपको अपनी समस्या से भागना नहीं है क्यूंकि जब हम अपनी समस्याओं या परेशानियों से भागते हैं तो वो दूर होने की बजायी और ज्यादा बाद जाती हैं। समस्याओं से भागना उनसे बचना का तरीका नहीं है। आप चाहे कहीं भी चले जाए अगर अपनी परेशानियों का कोई इलाज नहीं करेंगे तो परेशानियां लौट लौटकर आपके पास ही आ जाएँगी।

इसलिए उनसे भागे ना, चाहे तो लोगों से बात करें, दूसरों की राय लें। किसी ना किसी के पास कोई ना कोई उपाय मिल ही जाता है। क्यूंकि हमारे साथ होने वाली परेशानियां कोई नयी नहीं होती। दुनिया में ऐसे कई लोग हैं जो हमारी जैसी कई परेशानियों से खुद को बाहर निकाल चुके हैं। खुद कुछ समझ ना आये तो दूसरों की मदद लें। और हमेशा याद रखना समस्याओं से भागना उनका समाधान नहीं होता।  

आई होप आपको ये छोटी सी मोटिवेशनल कहानी about problems पसंद आयी हो. ऐसे ही प्रेरणादायक कहानियां पड़ने के लिए हमसे जुड़ें रहें। इस प्रेरणादायक हिंदी कहानी (अपनी समस्याओं से बाहर कैसे निकलें) को लेकर अगर आपका कुछ विचार हो तो comment section में जरूर बताएं। इस कहानी को share जरूर करें। 

Leave a Comment