Negative Side of Sandeep Maheshwari Vs Vivek Bindra

हाल ही में संदीप माहेश्वरी ने MLM कंपनियों द्वारा करे जा रहे scam पर एक वीडियो अपलोड करी। जिसमे उन्होंने directly या कहें indirectly Vivek Bindra पर निशाना साधा। संदीप माहेश्वरी ने अपनी वीडियो में बताया था की किस तरह Online Business Course के नाम पर Indian youth को बेवकूफ बनाया जा रहा है।

उन business courses में बिलकुल भी दम नही है। जो लोग उसे खरीदते हैं उनको ये कहा जाता है की वो उस course को करने के बाद उसे किसी दूसरे व्यक्ति को purchase करने के लिए कहे, जिससे उसे commission मिल सके और वो कमाई कर सके।

उस business course का moto किसी को business सीखाना नही बल्कि एक दूसरे को बेवकूफ बनाकर आगे बेचना है जो की हर MLM company पैसे कमाने के लिए ऐसा ही कुछ करती है। संदीप माहेश्वरी की उस वीडियो का सबसे ज्यादा असर विवेक बिंद्रा पर पड़ा क्योंकि वो भी कुछ ऐसा ही करते हैं।

संदीप माहेश्वरी की इस वीडियो के बाद विवेक बिंद्रा ने अपनी सफाई में एक वीडियो डाला जिसमे उन्होंने अपने कोर्स के benefit बताए और उसे एक तरह का business model बताया, जिसके बाद YouTube में Sandeep Maheshwari vs Vivek Bindra के बीच एक लड़ाई सी शुरू हो गई।

माहेश्वरी MLM को एक scam बताते हैं और बिंद्रा उसे एक business model. वैसे तो हर कोई MLM को एक scam मानता है क्योंकि ऐसी कंपनियां products और commission के नाम पर लोगों को बेवकूफ बनाती हैं लेकिन हम यहां MLM और Vivek Bindra के business model की नही बल्कि Sandeep Maheshwari और Vivek Bindra की इस लड़ाई के negative side या यूं कहें negative effect के बारे में जानेंगे।

sandeep maheshwari vs vivek bindra, negative effect of sandeep maheshwari vs vivek bindra,

Negative Side of Sandeep Maheshwari Vs Vivek Bindra

विवेक बिंद्रा और संदीप माहेश्वरी, दोनो ही भारत के जाने माने motivational speakers हैं, इन दोनो के बीच की इस लड़ाई का सबसे ज्यादा negative effect उन लोगों पर पड़ेगा जो इन्हें अपना Teaches, Idol या Motivation Guru मानते हैं।

जो लोग हमें प्रेरणा देते हैं या कुछ अच्छा करने के लिए प्रेरित करते हैं तो हमारे मन में उनके लिए ये धारणा बन जाती है की ये इंसान सही है और इसकी सोच सही है, उनकी बातों से हम उन पर भरोसा करने लगते हैं और उन्हें फॉलो करते हैं।

लेकिन जब ऐसे लोगों के बारे में हमे कुछ गलत जानने को मिलता है या उनके ऐसे कारनामों के बारे में पता चलता है जो सामाजिक रूप से गलत होते हैं तो हमारा भरोसा टूट जाता है और एक या दो लोगों की वजह से हम औरों पर भी विश्वास करना छोड़ देते हैं।

विवेक बिंद्रा और संदीप माहेश्वरी की इस लड़ाई में सबसे ज्यादा नुकसान उन लोगों का है जो इन पर भरोसा करते हैं। संदीप माहेश्वरी ने scam का खुलासा किया जो की एक अच्छी बात है लेकिन विवेक बिंद्रा के कहने के बाद भी वो उनसे आमने सामने मिलकर बात नही करना चाहते।

अगर संदीप माहेश्वरी सीधा विवेक बिंद्रा का इंटरव्यू ले लें तो हम सभी को हकीकत के बारे में पता चल जाएगा। दूसरी तरफ विवेक बिंद्रा ने ये कहा की संदीप माहेश्वरी अपनी खुद की फोटो लाखों में बेचते हैं और यूट्यूब का मोनेटाइजेशन ऑफ करके खुद को ऑडियंस के सामने एक मसीहा की तरह दिखाते हैं।

दोस्तों एक मोटिवेशनल स्पीकर होकर विवेक बिंद्रा अपने बिजनेस मॉडल के जरिए युवाओं को बर्बाद कर रहे हैं तो ये एक बहुत की घटिया बिजनेस है। ऐसे बिजनेस या scams से आप सभी को बचना चाहिए, वहीं दूसरी तरफ अगर संदीप माहेश्वरी सामने आकर विवेक बिंद्रा से लाइव इंटरव्यू नही करते तो ये भी एक संदेह का विषय है।

दोस्तों, मैं खुद भी विवेक बिंद्रा और संदीप माहेश्वरी का बहुत बड़ा फैन हूं क्योंकि इनकी videos देखकर बहुत motivation मिलती है लेकिन जबसे Vivek Bindra vs Sandeep Maheshwari शुरू हुवा है तब से इन दोनो की बातें मोटिवेशन कम और दिखावा ज्यादा लगने लगी हैं।

अपनी विडियोज पर मिलियन व्यूज लाने के चक्कर में ये लोग एक दूसरे को बदनाम कर रहे हैं। जाने माने मोटिवेशनल स्पीकर होकर ये भारत का ही नही बल्कि उन लोगों का भी गौरव तोड़ रहे हैं जो लोग इनसे प्रेरणा लेते हैं।

विवेक बिंद्रा और संदीप माहेश्वरी के बीच की इस लड़ाई के बारे में आपकी क्या राय है हमें Comment करके जरूर बताएं।

Leave a Comment