What Should I Be – motivational kahani hindi mein

motivational kahani hindi mein- ‘मुझे क्या बनना है’ ये छोटा सा सवाल कई बार हमें बहुत परेशान कर देता है और हम से कई लोग बहुत समय बीतने के बाद भी इस सवाल का answer नहीं ढूंढ पाते हैं।

ये सवाल खासकर students को काफी परेशान करता है क्यूंकि जब उनके mind में ये clear नहीं होता की उन्हें life में क्या बनना है तो वो कई बार अपने career को बेहतर बनाने के लिए कुछ गलत फैंसले ले लेते हैं, जिनसे उनका career उस तरह का नहीं बन पाता जैसा उन्होंने सोचा होता है।

आज की मोटिवेशनल कहानी भी कुछ ऐसी ही है, इस motivational story in hindi for students से आपको इस बात की समझ जरूर हो जाएगी की आपको life क्या में करना है और क्या बनना है। इस motivational kahani in hindi को एक बार जरूर पड़ें और अपने दोस्तों के साथ share जरूर करें। 

Life changing motivational story in hindi for students:

motivational kahani,motivational story for students,motivational kahani hindi mein,motivational story in hindi, student motivation
motivational story for students

ये कहानी एक लड़के की है, जो एक बार एक अमीर व्यक्ति को देखकर अमीर बनने का फैसला कर लिया और अमीर बनने के चक्कर में वो दिन रात मेहनत करके पैसे कमाने लगा और कुछ ही महीनों बाद उसने बहुत सारे पैसे कमा लिए और एक अमीर व्यक्ति बन गया। इसी बीच उसकी मुलाकात एक विद्वान से हो गई। उस विद्वान व्यक्ति के ज्ञान के बारे में जानकर वह Surprise हो गया। 

Read More: Motivational story on luck , Motivational hindi shorts

और अब उसने भी एक विद्वान व्यक्ति बनने की सोच ली। और अगले ही दिन से उसने पैसे कमाना बंद कर दिया और पड़ने-लिखने में अपना सारा वक़्त बिताने लगा। उसने अभी कुछ सीखना शुरू ही किया था की इसी बीच उसकी मुलाकात एक बहुत ही अच्छे संगीतकार (musician) से हो गयी। उस व्यक्ति को लगा की पैसे और ज्ञान से ज्यादा सुकून संगीत में है और उसी दिन से उसने अपनी पढ़ाई बंद कर दी और संगीत सीखने में लग गया।

इस सब के बीच उसकी काफी उम्र बीत गई और समय भी बर्बाद हो गया। फिर ना वो अमीर बन सका, ना विद्वान और ना ही एक अच्छा संगीतकार बन पाया। उसे इस बात का बड़ा दुःख हुवा। एक दिन उसकी मुलाकात एक बहुत बड़े महात्मा से हुई। उसने महात्मा को अपने दुःख का कारण बताया।

महात्मा ने उसकी परेशानी सुनी और मुस्कुराकर बोले, “बेटा, ये दुनिया बहुत बड़ी और अनोखी है। Tum जहाँ भी जाओगे कोई ना कोई चीज़ तुम्हें अपनी तरफ जरूर आकर्षित करेगी। लेकिन उन सब से दूर रह कर तुम अपना एक लक्ष्य चुनो और फिर जीते जी उसी पर अमल करते रहो तब जाकर तुम्हें सफलता की प्राप्ति अवश्य हो जाएगी, नहीं तो दुनियां के झमेलों में यूँ ही चक्कर खाते रहोगे और बार-बार अपनी रूचि बदलते रहने से कोई भी उन्नत्ति नहीं कर पाओगे।”

What we learn:

प्रेरणादायक सीख जो हमे इस कहानी से मिलती है :-

ये छोटी सी मोटिवेशनल शार्ट स्टोरी इन हिंदी, हमें सिखाती है की हम जिस भी कार्य को करें, पूरे तन और मन से से Focus होकर करें, बार-बार इधर-उधर भटकने से बेहतर यही है की एक जगह रुक कर मेहनत की जाएं, तब जाकर ही हमें अपने काम में सफलता मिल पाएगी।

किसी और की सफ़लता को देख कर अपनी field और अपनी सफ़लता का रास्ता ना बदले। अपने लक्ष्य हमेशा अपनी strength के अनुसार ही बनाएं. दूसरे किसी काम में बेहतर हैं तो जरूरी नहीं है की आप भी वही काम करके उसमे बेहतर हो जाएंगे। दूसरों को देखकर अपना aim ना बदलें और ना ही किसी और को देखकर अपना कोई aim बनाएं। जिस काम में आपको लगता की आप बेहतर हैं उसी में मेहनत करें।

सफलता कोई जल्दी से मिलने वाली चीज़ नहीं है, अगर हर बार आप अपना लक्ष्य बदलते रहेंगे तो आप खुद कभी ये नहीं जान पाएंगे की आप किस चीज़ में बेहतर हैं और आप हमेशा दूसरों की ही देखा-देखी में ही रह जाएंगे इसलिए जो आपको अपने लिए सही लगे उस पर मेहनत करें, सफलता आपको जरूर मिलेगी।

Q- अपना लक्ष्य कैसे बनाएं (how to set your aim)..?

apna lakshya kaise chune,apna lakshya kaise nirdharit karen,अपना लक्ष्य कैसे चुने,अपना लक्ष्य कैसे बनाएं,apna lakshya kaise prapt karen
apna lakshya kaise bnaye

Ans- जिंदगी में सफलता पाने के लिए एक लक्ष्य (Aim) होना जरूरी है। जब तक आपको ये ही नहीं पता होगा ही मेरा Aim क्या है तब तक आप भटकते रहेंगे। हमारा लक्ष्य या हमारी मंज़िल जब हमारे सामने होती है या हमे उसके बारे में पता होता है तो उस Aim तक पहुंचने के लिए रास्ता बनाना आसान हो जाता है।

लेकिन हम में से ज्यादातर लोग पहले रास्ता बनाने की कोशिश करते हैं और फिर मंज़िल तक पहुंचने कोशिश करते हैं। हम ये बात भूल जाते हैं की कई रास्ते कभी खत्म ही नहीं होते। वो बस आगे बढ़ते जाते हैं, ऐसे में ना हमे मंज़िल मिल पाती है और ना ही हम कहीं पहुंच पाते हैं। बस हम एक भटके हुवे मुसाफिर ही रह जाते हैं।

आज internet के समय में हमारे पास knowledge ही कोई कमी नहीं है। Google पर एक क्लिक करते ही हर चीज की जानकारी हमे मिल जाती है। अपना लक्ष्य बनाने के लिए सबसे पहले आपको ये सोचना है की आपको बनना क्या है। Doctor, Engineer, Lawyer या और कुछ भी। और फिर उसके बारे में आपको Google में सर्च करके पूरी information लेनी है।

जैसे की अगर आपको डॉक्टर बनना है तो आप Google पर search कर सकते हैं की ‘डॉक्टर कैसे बना जाता है’, ‘डॉक्टर बनने के लिए क्या course करना पड़ता है’, ‘डॉक्टर बनने में कितना समय लगता है’, ‘डॉक्टर बनने में कितना खर्च आता है’, जब आप ये सब चीज जान लेंगे तो आपके mind में अपना लक्ष्य clear हो जाएगा और Google आपको उस लक्ष्य तक पहुँचने का रास्ता भी दिखा देगा।

इसके अलावा आप career experts की advice ले सकते हैं, अपने घर या परिवार में मौजूद उन लोगों की advice ले सकते हैं जो किसी field में बहुत अच्छी जॉब कर रहे हैं और आप भी उन्हें देख कर सोचते हैं की मैं भी उनकी तरह बनू। आपको उनसे बात करनी चाहिए, वो उस जगह तक कैसे पहुंचे ये पूछना चाहिए। उस जगह तक पहुंचने के लिए कैसी मेहनत करनी है, कैसे पढ़ाई करनी है उस सब की जानकारी आप उनसे भी ले सकते हैं।

इसके अलावा और भी कई short term courses होते हैं जिन्हें करके अच्छी जॉब लग जाती है या फिर आप अपना कोई business करा जा सकता है। उन courses के बारे में पता करें। Google से उनकी information collect करें। आज के समय में लक्ष्य बनाना उतना मुश्किल नहीं है। मुश्किल है तो बस मेहनत करना और अपने लक्ष्य खुद को भटकने से बचाना।

अगर आप एक aim बनाकर जिंदगी में कुछ करना शुरू करेंगे तो definitely आपको सफलता जरूर मिलेगी। life में हमेशा सफल लोगों को follow करें क्यूंकि आपको भी एक सफल व्यक्ति बनना है। अगर आप शुरुवात से ही negative और असफल लोगों से अपनी तुलना करने लग जाएंगे तो आप भी उनकी तरह ही aim से भटक कर खुद को असफल कर लेंगे।

दोस्तों आपको ये motivational kahani hindi mein कैसी लगी हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं। ऐसी ही और भी कहानियों और मोटिवेशनल स्पीचस के लिए हमारे साथ जुड़ें रहें।

Leave a Comment