खुशियों के पीछे मत भागो – Motivational story on happiness

जब भी हम परेशान होते हैं तो हमारे मन में कभी ना कभी ये सवाल जरूर आता है की ‘khud ko kaise khush rakhu’ और ‘apne dukhon se peecha kaise chhudaun’। दुखों से पीछा छुड़ाना शायद हर किसी के लिए easy ना हो लेकिन खुद को खुश रखना हर किसी के लिए आसान होता है।

लेकिन हम खुद को खुश तभी रख सकते हैं जब हम सच में खुश रहना चाहते हों। कई बार हम अपनी सोच इस तरह का बना लेते हैं की हमे हमारे आस पास सिर्फ दुःख और परेशानियां ही दिखाई देती हैं और जिनकी वजह से हम खुद को खुश रखने के बजाए खुद को दुखी रखते हैं। 

इसके विपरीत कई बार हम खुशियों की तलाश में इतना खो जाते हैं की हमे असली ख़ुशी कभी मिल ही नहीं पाती। खुशियों के पीछे लगातार भागते रहना या फिर अपने दुखों में ही जिंदगी को जीना, दोनों ही परिस्थितियां हमारे लिए अनुकूल नहीं होती। कई बार खुशियों के पीछे भागते रहना भी हमारे दुखों का कारण बन जाता है। 

आज हम आपके लिए एक बहुत ही अच्छी प्रेरणादायक हिंदी स्टोरी on Happiness लेकर आएं हैं। जो आपको जिंदगी में खुश रहना और खुशियों का सही मतलब सिखाएगी। हम अपनी सारी जिंदगी खुशियों के पीछे भागने में ही बिता देते हैं और अंत में हमें एहसास होता है की जिन खुशियों के पीछे हम भागते रहे वो तो हमारे आस-पास ही थी। तो आईये पढ़ते हैं ऐसी ही एक मोटिवेशन स्टोरी इन हिंदी –

किसी ने क्या खूब कहा है,

“उदासियों की वजह तो बहुत हैं जिंदगी में, लेकिन बे-वजह खुश रहने का मज़ा ही कुछ और है.”

–Motivational Shayari on happiness

An Old Man – A short hindi story on happiness

ये कहानी एक ऐसे व्यक्ति की है जो हमेसा उदास व दुखी रहता था। वो अक्सर चीज़ों के बारें में कम्प्लेन किया करता।  गांव के लोग उससे बहुत परेशान थे क्यूंकि वो ना तो खुद खुश रहता और ना ही दूसरों को खुश रहने देता।

बढ़ती उम्र के साथ उस व्यक्ति का behavior और भी ज्यादा complaining और negative हो गया। गांव वाले उसे Avoid करने लगे और लोगों ने उससे मिलना-जुलना और बातचीत करना भी बंद कर दिया। 

कुछ समय बाद जब वह व्यक्ति 65 साल का हो गया तो गांव में उसके बारे में कई तरह की बातें फैलने लगी की वो बूढ़ा व्यक्ति अब खुश रहने लगा है, और अब वो हर किसी से ख़ुशी-ख़ुशी मिलता है और चीज़ों के बारे में कम्प्लेन भी नहीं करता।

ये सुनकर गाँव से कुछ लोग उससे मिलने गए। उस बड़े व्यक्ति को खुश देख कर हर कोई हैरान हो गया और बातों-बातों में किसी ने उससे पूछा की, ”तुम्हारे साथ क्या हुवा है? तुम अचानक इतने खुश कैसे रहने लगे हो?

Related – Secret of Success (Buddha Motivation), Love & Breakup – Motivational Story

वो व्यक्ति मुस्कुराया और बोला, “मैं सारी जिंदगी खुशियों के पीछे भागता रहा, अपनी खुशियां दूसरों में ढूंढ़ता रहा। लेकिन अब मैंने Decide किया है की अब मैं खुशियों के पीछे नहीं भागूंगा और उन चीज़ों के साथ ही खुश रहूँगा जो मेरे आस पास हैं और अपनी बची हुई लाइफ को एन्जॉय करूंगा, इसलिए आज में खुश हूँ.”

प्रेरणा जो हमे इस मोटिवेशनल कहानी से मिलती है:-

ये छोटी सी प्रेरणादायक कहानी हमें ये बात सिखाती है की अगर लाइफ को एन्जॉय करना है तो खुशियों के पीछे मत भागो। आपके पास जो भी है, जितना भी है वो लाइफ को एन्जॉय करने के लिए काफी है. हम अक्सर ये सोचते हैं जब हमारे पास बड़ा घर, बड़ी गाड़ी, और बहुत सारा पैसा होगा तो ही हम लाइफ में खुश रहेंगे. हम सारी लाइफ इन्ही चीज़ों के पीछे भागते रहते हैं, और इन सब की वजह से अपनी लाइफ को एन्जॉय करना भूल जाते हैं। 

एक खुशियों भरा जीवन जीने के लिए हमे गाड़ी, बंगला या फिर ढेर सारे पैसों की जरूरत नहीं है और जब भी ऐसी चीज़ों के पीछे भागना शुरू कर देते हैं तो हमारी life में stress और दुःख बढ़ता है। इन चीज़ों के ना मिलने पर हम खुद को दुखी कर लेते हैं। इसलिए आपके पास जो है वो बहुत है और आप जो पाना चाहते हैं उसे खुश मन से पाने की कोशिश कीजिये। लाइफ को एन्जॉय करिये और खुशियों के पीछे मत भागिए. खुद खुश रहिये और दूसरों को भी खुश रखिये.

Happiness motivational story video

अगर ये छोटी सी hindi motivation story आपको पसंद आयी हो तो हमारे ब्लॉग को फॉलो जरूर करें , इस motivation स्टोरी को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें। इस  स्टोरी को लेकर आपका कोई भी View हो तो कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं। मोटिवेशनल वीडियोस देखने के लिए हमे यूट्यूब में सब्सक्राइब जरूर करें।  

Leave a Comment