लोग क्या कहेंगे – Best Motivational Short Story in Hindi

“लोग क्या कहेंगे”, ये तीन शब्द पढ़ने में बहुत आसान लगते हैं मगर ये शब्द हमारे मन में और हमारी जिंदगी में बहुत गहरा असर डालते हैं। इन तीन शब्दों का असर हमारी जिंदगी में पॉजिटिव और नेगेटिव दोनो तरह से पड़ता है।

जैसे यदि आप कुछ ऐसा करने की सोचें जो सामाजिक रूप से गलत हो और उसे करने से पहले आपके मन में ये सवाल आ जाए की ‘मेरे ऐसा करने से लोग क्या कहेंगे’ तो समाज के डर की वजह से आप उस गलत काम को नहीं करेंगे, जो की आपके लिए पॉजिटिव होगा।

best short motivational story hindi, motivational short story in hindi, hindi story for motivation,

लेकिन कई बार ऐसा होता है की कुछ काम गलत नही होते मगर समाज के डर की वजह से और ‘लोग क्या कहेंगे’ इस वजह से हम उन कामों को नही करते, जो की हमारे लिए नेगेटिव होता है। वैसे तो सभी जानते हैं की हम चाहे कुछ अच्छा करें या फिर कुछ गलत, या फिर कुछ भी ना करें तब भी लोग कुछ ना कुछ जरूर कहेंगे।

लोगों के कुछ कहने के डर से कई बार हम सही फैंसले नही ले पाते, कुछ करने से पीछे हट जाते हैं, अपनी इच्छाओं के अनुसार जिंदगी को जी नही पाते।

आज जो short hindi motivational story हम लेकर आए हैं उससे आप सीखेंगे की हमें खुद के बारे में क्या सोचना चाहिए, अपने बारे में क्या राय रखनी चाहिए, साथ ही लोग क्या कहेंगे इस डर से खुद को कैसे बचाना चाहिए।

अगर आप ‘लोग क्या कहेंगे’ इस डर से अपनी जिंदगी में उदास हैं या टेंशन में हैं तो ये कहानी आपको एक बार पूरी जरूर पढ़नी चाहिए. इस motivational hindi story को शेयर जरूर करें।

लोग क्या कहेंगे – Best Motivational Short Story in Hindi

एक बार, एक बच्चा समुंद्र के किनारे टहल रहा था। टहलते टहलते वो समुंद्र के पास पहुंच गया। तभी एक तेज लहर आई और उस बच्चे से टकरा गई। लहर से टकराकर बच्चा जमीन पर गिर गया। समुंद्र की इस हरकत से बच्चे को गुस्सा आ गया और गुस्से में उसने रेत में लिखा… ‘समुद्र तुम बहुत निर्दयी हो।’

उसी समुद्र के दूसरी ओर एक मछुवारा था। जिसने समुंद्र से बहुत सारी मछलियां पकड़ी, जिससे खुश होकर उसने रेत में लिखा.. ‘समुद्र मेरा पालनहार है जो मुझे भूखा नही रहने देता।’

दूर एक युवक समुंद्र की लहरों के संग खेलते हुवे डूब जाता है और उसकी मृत्यु हो जाती है। जिसकी वजह से उसकी दुखी मां रेत पर लिखती है…‘समुद्र मेरे बेटे का हत्यारा है।’

एक किनारे में एक लड़का दिन भर मेहनत करके सीप ढूंढ रहा था। जब दिन ढलने को आया तो उसे एक बड़ा सा सीप मिला…जिसके अंदर उसे एक बड़ा सा कीमती मोती मिल गया। वह लड़का रेत पर लिखता है… ‘समुद्र बहुत उदार व दानी है।’

अचानक एक बड़ी लहर आती है और सारे लिखे हुए को मिटा कर चली जाती है। वो लहर लोगों की अच्छी बुरी बातों को अपने साथ लेकर वापिस समुंद्र में मिल जाती है।

सीख जो हमें इस Motivational Kahani से मिलती है –

लोगों की बातों का समुंद्र को कहीं कोई फर्क नहीं पड़ता। समुंद्र को फर्क नहीं पड़ता की लोगों की उसके बारे में क्या राय है, उसके बारे में लोग क्या सोचते हैं, वो हमेशा अपनी लहरों के साथ मस्त रहता है। इस जीवन में हमें भी समुंद्र की तरह विशाल बनना चाहिए। कभी भी फिजूल बातों पर ध्यान नहीं देना चाहिए।

हमें अपने फैंसले, खुशियां, शौर्य, पराक्रम और शांति, समुंदर की भांति अपने हिसाब से तय करनी चाहिए। लोगों की बातें उनकी परिस्थितियों के हिसाब से बदलती रहती हैं। आप भले जिंदगी में कुछ करें, ये दुनिया आपके बारे में बातें बनाना नही छोड़ेगी। आपको अपनी जिंदगी के फैंसले अपनी समझदारी से लेने होंगे।

ऐसा काम ना करें, जिससे आपकी बदनामी हो और लोगों को आपकी बुराई करने का मौका मिले। अच्छे बनें और अपनी जिंदगी को अपने हिसाब से जिएं। लोग आपके बारे में गलत बाते बनाएं या कुछ और कहें उनसे ज्यादा मतलब ना रखें। हर गली में ऐसे कुत्ते होते ही हैं जो अक्सर भोकते रहते हैं।

मगर उनके भौंकने का असर किसी पर नही पड़ता। इसी तरह के कुछ लोग आपके आस पास भी होंगे। ऐसे लोगों को हमेशा Ignore करें और हाथी की तरह आगे बड़ते रहें। वो कहावत तो आपने सुनी ही होगी हाथी चला जाता है और कुत्ते भौंकते रहते हैं।

आई होप इस शॉर्ट हिंदी स्टोरी मोटिवेशन से आपको कुछ अच्छा सीखने को मिला हो। ऐसी ही और भी जीवन बदलने वाली प्रेरणादायक कहानियां पढ़ने के लिए इस ब्लॉग से जुड़े रहें।

Leave a Comment